YOU MUST GROW INDIA MUST GROW

National Thoughts

A Web Portal Of  Positive Journalism

What is the effect of sunlight on health, these are the disadvantages of sunbathing for a long time

धूप का सेहत पर क्या होता है असर, ज्यादा देर धूप सेंकने से ये होते हैं नुकसान

Share This Post

50% LikesVS
50% Dislikes
न्यूज डेस्क (नेशनल थॉट्स) Health tips: सर्दियों के मौसम में घर की बालकनी में बैठकर धूप सेंकना भला किसे पसंद नही। सूरज की रोशनी मिलने के ढेरों फायदे हैं। यह हमारे लिए किसी वरदान की तरह है। कुछ देर धूप में बैठकर हम कई बीमारियों को दूर रख सकते हैं और कई परेशानियां से छुटकारा भी पा सकते हैं।

धूप के फायदे ही फायदे  :
  • सूरज की रोशनी का मुख्य स्रोत ऊष्मा होने से यह ठंड से प्रभावित शरीर को गर्माहट देने का काम करती है। धूप सेंकने से विटामिन डी मिलता है जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं। अगर उचित मात्रा में विटामिन डी हो तो शरीर कैल्शियम का अवशोषण कर पाता है।
  • नियमित रूप से धूप सेंकने से शरीर पर होने वाले तरह-तरह के संक्रमण की आशंका कम हो जाती है। इससे प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। कैंसर से लड़ने वाले तत्व भी सूरज की किरणों से मिलते हैं।
  • सुबह धूप सेंकने से सकारात्मकता आती है। इसका कारण यह है कि सूरज की किरणें पड़ने पर अच्छा महसूस कराने वाले हार्मोन, सेरोटोनिन और एंडोर्फिन का ज्यादा स्राव होता है। यह अवसाद, सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर से बचाता है।
  • धूप में बैठने से पीनियल ग्लैंड पर असर होता है। यह ग्लैंड शरीर में मेलाटोनिन नाम का हार्मोन बनाती है। एंटीऑक्सीडेंट मेलाटोनिन नींद की गुणवत्ता तय करता है। यानी धूप सेंकना आपकी  नींद के लिए भी फायदेमंद है
  • त्वचा संबंधी रोगों से दूर रहना हो तो कुछ मिनट धूप जरूर सेंकें। इससे खून साफ होता है। फंगल इन्फेक्शन की समस्या, एक्जिमा, सोराइसिस और त्वचा संबंधी अन्य बीमारियां दूर होती हैं।
यह है धूप सेंकने का सही समय :
सप्ताह में तीन से चार बार भी धूप सेक ली तो फायदा करेगा। अध्ययन के मुताबिक धूप सेंकने का सबसे अच्छा समय सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12 बजे तक और फिर शाम 4 बजे से सूर्यास्त तक होता है। शुरुआत में 5-10 मिनट के साथ धूप सेंकने की शुरुआत करें और जब सहनशीलता बढ़े तो समय भी बढ़ाएं। गर्मी के मौसम में 10 से 15 मिनट और सर्दियों के मौसम में 20-25 मिनट तक बैठें।
ज्यादा देर धूप सेंकने से नुकसान भी :
  • अगर लंबे समय तक दोपहर के समय सूरज की पराबैंगनी प्रकाश के संपर्क से रेटिना को नुकसान पहुंचता है। इससे मोतियाबिंद होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • यूवी किरणें त्वचा में ज्यादा समय तक जाती है तो झुर्रियां पड़ जाती है। लम्बे समय तक रहने से  त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • ज्यादा देर सन बाथ लेने से सन बर्न की शिकायत हो सकती है।

खबरें और भी है

Please select a default template!