Advertisment

Ashwin Maas 2021: When will Ashwin month start and its importance

Ashwin Maas 2021 : जाने कब से शुरू होगा आश्विन मास और इसका महत्व

Share This Post

Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on email
सनातन धर्म में आश्विन मास का है बहुत बड़ा महत्व  
 
सनातन धर्म और परंपराओं में 12 महीने पूजा पाठ, जप-तप, दान आदि की दृष्टि से हर माह का अपना अलग-अलग महत्व है | प्रत्येक मास में प्रतिदिन कोई न कोई तीज त्यौहार या शुभ दिन उस मास को एक नई पहचान देता है | बात करें आश्विन मास की तो इस महीने में कई बड़े महापर्व आते हैं |
 
जाने कब है शुभ दिन और पर्व  
आश्विन मास के कृष्णपक्ष से होने वाली शुरुआत में पितरों को समर्पित पितृ पक्ष आता है तो वहीं शुक्लपक्ष में देवी दुर्गा की उपासना का महापर्व नवरात्र आता है | इस साल आश्विन मास की शुरुआत 21 सितंबर 2021 से शुरू होकर 20 अक्टूबर 2021 तक रहेगा |

आश्विन मास का धार्मिक महत्व
आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से अमावस्या तक पितृपक्ष के दौरान पितरों के निमित्त श्राद्ध और तर्पण किया जाता है | पितरों से जुड़े इस धार्मिक कार्य को सभी विधि-विधान से करने पर पूर्वजों की आत्मा को शांति और मोक्ष की प्राप्ति होती है | इससे प्रसन्न होकर पितर हम पर अपना आशीर्वाद प्रदान करते है |

आश्विन मास में इन चीजों का करें दान

  • आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से अमावस्या तक चलने वाले पितृ पक्ष में अपने पितरों के निमित्त पिंडदान करना चाहिए | 
  • किसी ब्राह्मण को स्नेह और आदर के साथ बुलाकर भोजन कराना चाहिए | 
  • आश्विन मास में प्रतिदिन अपनी क्षमता के अनुसार तिल और घी का दान करना चाहिए |

Advertisment

खबरें और भी है ...