You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Business News : No government bank is in loss, between April and December, there is a profit of Rs 48,874 crore!

Business News : कोई भी सरकारी बैंक घाटे में नहीं, अप्रैल से दिसंबर के बीच 48,874 करोड़ रुपए का फायदा हुआ !

Share This Post

सरकारी बैंकों के अच्छे दिन शुरू 
 
न्यूज डेस्क ( नेशनल थॉट्स ) : भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार आ रहा है | सरकारी बैंकों के लिए अच्छे दिन हैं। चालू वित्तवर्ष यानी 2021 अप्रैल से लेकर दिसंबर तक की तीन तिमाहियों में एक भी सरकारी बैंक घाटे में नहीं रहा | इन सभी ने मिलकर इस दौरान कुल 48,874 करोड़ रुपए का फायदा कमाए हैं।


संसद में सरकार ने दी जानकारी

सरकार ने संसद में बताया कि अप्रैल से दिसंबर के बीच किसी भी सरकारी बैंक को घाटा नहीं हुआ है। राज्य वित्तमंत्री भागवत कराड ने राज्यसभा में कहा कि 2020-21 में सरकारी बैंकों ने कुल 31,820 करोड़ रुपए का फायदा कमाया था। हालांकि चालू वित्तवर्ष की पहली तीन तिमाहियों में ही बैंकों ने इससे ज्यादा फायदा कमा लिया है। राज्यमंत्री साल 2010 के बाद सरकारी बैंकों के घाटे और फायदे के बारे में जानकारी दे रहे थे।

2015-16 से घाटा बढ़ गया

हालांकि 2015-16 से लेकर 2019-20 तक काफी सारे सरकारी बैंक घाटे में थे। 2017-18 में इन बैंकों का कुल घाटा 85,370 करोड़ रुपए था जो कि 2018-19 में कम होकर 66,636 करोड़ रुपए रह गया। 2019-20 में इन बैंकों को 25,941 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ जबकि 2015-16 में इनका घाटा 17,993 करोड़ रुपए था। 2016-17 में इनको 11,389 करोड़ रुपए का लॉस हुआ था।

डिजिटल पेमेंट के लिए उत्साहित कर रही है सरकार

डिजिटल पेमेंट को लेकर कराड ने कहा कि इसे लगातार सरकार उत्साहित कर रही है। डिजिटल पेमेंट का प्रमोशन सरकार की प्राथमिकता है। यह झंझट मुक्त और आसान बैंकिंग ट्रांजेक्शन के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक को यह सलाह दी गई है कि वह सेविंग बैंक खाताधारक से नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) के लिए कोई चार्ज न ले। चाहे यह ऑनलाइन मोबाइल बैंकिंग के जरिए किया जाए या फिर मोबाइल ऐप के जरिए हो।


कुल 12 सरकारी बैंक हैं देश में

बता दें कि इस समय देश में कुल 12 सरकारी बैंक हैं। इसमें सबसे बड़े बैंकों में भारतीय स्टेट बैंक (SBI), पंजाब नेशनल बैंक (PNB) , यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ कैनरा बैंक हैं। इसमें से चार बैंकों को दूसरे बैंकों में मिलाए जाने की तैयारी है। इसमें बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक और पंजाब एंड सिंध बैंक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On