Category: गागर में सागर

To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर :- 14

कोई भी कार्य करना हो बड़ों से आशीर्वाद लो सभी से सहयोग लो ताकि सभी से कुछ मिले कोई रुकावट पैदा न करे |

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर :- 13

कोई भी कार्य करना हो बड़ों से आशीर्वाद लो सभी से सहयोग लो ताकि सभी से कुछ मिले कोई रुकावट पैदा न करे |

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर – 12

तर्क करते समय एक बात हमेशा ख्याल रखो दोनों ही ठीक हो सकते हैं | गिलास को आधा भरा देखने वाला ठीक है तो गिलास

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर – 11

अपना नियत कर्म-शुभ कर्म करते रहो अंत में सब बाधाएं दूर होकर आप सफलता पा सकते हैं कितने ही बड़े बन सकते हैं |

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर :- 10

एक सीमा से अधिक तर्क मत करो अत्यंत ज्ञानी को भी क्रोध आ सकता है मूर्ख को तो आ ही जाता है |

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर – 09

समर्थ को दोष नहीं लगता जज को मृत्युदंड देने से दोष नहीं लगता सैनिक को युद्ध में मार-काट करने से दोष नहीं लगता श्री शिव

Read More »
Today's Panchang ,
गागर में सागर

आज का पंचांग

मंगलवार, सितंबर 14, 2021 सूर्योदय 06:05:12 सूर्यास्त 18:28:00 राहु काल 15:22:18 से 16:55:09 तक अभिजीत 11:51:50 से 12:41:22 तक

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर – 08

समर्थ को दोष नहीं लगता जज को मृत्युदंड देने से दोष नहीं लगता सैनिक को युद्ध में मार-काट करने से दोष नहीं लगता श्री शिव

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर :- 07

बिना काम – बिना बुलाए किसी के यहाँ नहीं जाना चाहिए मित्र-स्वामी-पिता-गुरु के यहाँ बिन बुलाए जा सकते हैं पर इनसे भी यदि किसी कारण

Read More »
To express too much in too few words
गागर में सागर

गागर में सागर :- 6

समय के अनुसार साधन बदल लेने चाहिये जैसे कि प्रभु प्राप्ति का साधन सतयुग में ध्यान था त्रेता युग में यज्ञ था द्दापर युग में

Read More »