Advertisment

DDMA said - this time the idol of Ganpati will not be installed in the pandals

DDMA ने कहा – इस बार पंडालों में नहीं लगाई जाएगी गणपति की मूर्ति

Share This Post

Share on facebook
Share on linkedin
Share on twitter
Share on email

न्यूज डेस्क : देश की राजधानी दिल्ली में रोजाना आने वाले कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है लेकिन फिर भी विशेषज्ञों द्वारा जताई गई तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है |  इसी को देखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में गणेश चतुर्थी पर किसी सार्वजनिक कार्यक्रम को मंजूरी नहीं दी जाएगी। 


डीडीएमए ने कहा – पंडालों में नहीं लगाई जाएगी भगवान गणेश की प्रतिमा  

डीडीएमए की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, जिला मजिस्ट्रेट और पुलिस उपायुक्त यह सुनिश्चित करेंगे कि भगवान गणेश की प्रतिमाएं टेंट और पंडाल में नहीं स्थापित की जाएं। इसके अलावा यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी धार्मिक अथवा सार्वजनिक स्थल पर लोगों की भीड़ नहीं जमा हो। बयान में कहा गया कि किसी तरह का जुलूस निकालने की भी मंजूरी नहीं दी जाएगी।

 
हर बार गणपति जी के अष्ट रूपों की होती है पूजा 
इस दौरान गणपति जी के खासकर अष्ट रूपों की पूजा होती है। इन अष्ट विनायकों में महोत्कट विनायक, मयूरेश्वर विनायक, गजानन विनायक, गजमुख विनायक, सिद्धि विनायक, बालेश्वर विनायक, वरद विनायक आदि शामिल हैं। चिंतामन गणपति, गिरजात्म गणपति, विघ्नेश्वर गणपति, महागणपति आदि कई रूप भी हैं।

Advertisment

खबरें और भी है ...