You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Ekdant Sankashti Chaturthi 2022: Know when is Chaturthi, worship method and auspicious time!

Ekdant Sankashti Chaturthi 2022 : जानिए कब है चतुर्थी, पूजा- विधि और शुभ मुहूर्त !

Share This Post

कब है गणेश चतुर्थी 
 
न्यूज डेस्क ( नैशनल थॉट्स ) : हिंदू पंचाग के अनुसार ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर एकदन्त संकष्टी चतुर्थी मनाई जाती है है। इस दिन विधि- विधान से भगवान श्री गणेश की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान गणेश की पूजा- अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। भगवान गणेश प्रथम पूजनीय देव हैं।
 
एकदन्त संकष्टी चतुर्थी – 19 मई, 2022

मुहूर्त-

  • चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – मई 18, 2022 को 11:36 पी एम बजे
  • चतुर्थी तिथि समाप्त – मई 19, 2022 को 08:23 पी एम बजे

भगवान गणपति की पूजा के बाद उन्हें मोदक, दूर्वा, सुपारी और पानी आदि चीजें अर्पित की जाती हैं | मान्यता है कि एकदंत संकष्टी चतुर्थी को सच्चे मन से भगवान गणेश जी की पूजा करने से भक्तों को सुख-समृद्धि, बुद्धि, ज्ञान, ऐश्वर्या की प्राप्ति होती है |

चंद्रोदय समय

एकदंत संकष्टी चतुर्थी व्रत में चंद्रोदय रात को 10 बजकर 56 मिनट पर होगा | संकष्टी चतुर्थी का व्रत रखने वाले चंद्र देव को जल अर्पित करके ही पारण करें |

मोदक और दूर्वा करें अर्पित

धर्म शास्त्रों के अनुसार, एकदंत संकष्टी चतुर्थी के दिन पूजा के समय भगवान गणपति को इदं दुर्वादलं ऊं गं गणपतये नमः मंत्र के उच्चारण के साथ 21 गांठें दूर्वा घास को उनके मस्तक पर अर्पित करें | तथा उन्हें मोदक का भोग लगाएं | तो भगवान गणपति भक्त की सारी मनोकामना पूरी करते हैं और भक्तों को इच्छित वर की प्राप्ति का वरदान देते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On