You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Health News : क्या भारत में आएगी तीसरी लहर ? डेल्टाक्रॉन वेरिएंट बन सकता है कारण ?

Share This Post

कर्नाटक में 221 मरीजों में डेल्टाक्रॉन वेरिएंट

न्यूज डेस्क ( नेशनल थॉट्स ) : देश में पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस के नए मामलों में कमी देखी जा रही है | वहीं, चीन, हांगकांग और ब्रिटेन में इस वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं | इसी बीच कर्नाटक में 221 मरीजों में डेल्टाक्रॉन वेरिएंट के संकेत मिले हैं | इनकी जांच की जा रही है | कोविड जीनोमिक्स कंसोर्टियम का कहना है कि देशभर में इस वैरिएंट के 568 मामले जांच के दायरे में हैं |

डेल्टाक्रॉन एक हाइब्रिड वेरिएंट

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से इस वैरिएंट को लेकर कोई ऑफिशियल जानकारी नहीं दी गई है | वैज्ञानिकों का कहना है कि जनवरी 2022 में फ्रांस में इस वेरिएंट के फैलने की शुरुआत हुई थी और पहला मामला सामने आया था | वैज्ञानिकों ने डेल्टाक्रॉन वेरिएंट को एक हाइब्रिड वेरिएंट बताया है, जिसका नाम BA.1 + B.1.617.2 है | यह डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट से मिलकर बना है |

कोविड एक्सपर्ट डॉ. अंशुमान ने बताई सच्चाई

स्वास्थ्य नीति विशेषज्ञ और कोविड एक्सपर्ट डॉ. अंशुमान ने बताया कि जनवरी में साइप्रस सिटी में 12 केस में डेल्टाक्रॉन वेरिएंट पाया गया था | चूंकि यह वैरिएंट ओमिक्रॉन और डेल्टा से मिलकर बना था, तो ऐसे में यह डर था कि अगर इस वेरिएंट में ओमिक्रॉन की संक्रामक क्षमता और डेल्टा की मारक क्षमता आ गई तो यह काफी घातक साबित हो सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ |

क्या भारत में चौथी का कारण बन सकता है डेल्टाक्रॉन

यह वैरिएंट ओमिक्रॉन से तो खतरनाक था, लेकिन डेल्टा से कमजोर था | हालांकि इस वैरिएंट के सभी मरीजों को हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ा था, लेकिन उनमें गंभीर लक्षण नहीं थे | इस वैरिएंट से भारत में ज्यादा खतरा न हो | क्योंकि देश में ओमिक्रॉन से लगभग पूरी आबादी संक्रमित हो चुकी है | दूसरी लहर के दौरान डेल्टा भी फैल गया था | टीकाकरण भी तेजी से चल रहा है |

अगली लहर आई भी तो हल्का ही रहेगा असर

डेल्टाक्रॉन वेरिएंट को आए हुए करीब दो महीने का समय हो गया है लेकिन इस वैरिएंट के मामले जिन देशों में रिपोर्ट हुए हैं | वहां इससे न तो अचानक से मौतें बढ़ी और और न ही हॉस्पिटलाइजेशन | फिलहाल इस वैरिएंट पर रिसर्च चल रही है | इसलिए अभी इस बात की पुष्टि नहीं की जा सकती है यह नया वेरिएंट तेजी से फैलेगा | डेल्टाक्रॉन भारत के लिए कोई

बड़ा खतरा होगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On