YOU MUST GROW INDIA MUST GROW

National Thoughts

A Web Portal Of  Positive Journalism

Holistic Health Tips, Arogya Sevak - Mukesh Babu Gupta

होलिस्टिक हेल्थ टिप्स,आरोग्य सेवक-मुकेश बाबू गुप्ता

Share This Post

50% LikesVS
50% Dislikes

सर्दियों में जरूर बनाकर खायें

भारत में मेथी के लड्डू को मिठाई के रूप में कम और आयुर्वेदिक औषधि के रूप में ज्यादा मान्यता दी जाती है। सुबह-सुबह एक मेथी का लड्डू खाने से न केवल ब्लड शुगर ,उच्च रक्तचाप कंट्रोल में रहेगा,हृदय सशक्त रहेगा बल्कि शरीर के तापमान को गर्म रखने में भी बहुत मदद मिलेगी। इसके अलावा सर्दियों में मेथी के लड्डू खाने के बहुत फायदे हैं। एक तरफ जहां ये लड्डू पीठ और जॉइंट पेन को ठीक करता हैंI
मेथी के लड्डू में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।
मेथी के लड्डू (प्रति 100 ग्राम ) में 40 ग्राम कार्बोहाइडे्रट, 20 ग्राम शुगर, 10 ग्राम फैट, 5 ग्राम प्रोटीन, 11 मिग्रा सोडियम, 21 मिग्रा कॉलेस्ट्रॉल, 5 प्रतिशत विटामिन ए, 3 प्रतिशत कैल्शियम, 33 प्रतिशत आयरन मौजूद रहता है।
मेथी के लड्डू बनाने की विधि –
मेथी के लड्डू बनाने की सामग्री-
मेथी दाना – 250 ग्राम,देशी गाय का दूध – 600 ml,देसी घी– 1 किलो,गेहूं या सिंघाड़ा या कुट्टू या चावल का आटा-750 ग्राम,गोंद– 125 ग्राम,दालचीनी– एक चम्मच,जीरा पाउडर– 2 चम्मच,पिसी हुई सौंठ– 2 चम्मच,गुड़ – 800 ग्राम,काली मिर्च पावडर2 चम्मच
खरबूज के बीज- 20 ग्राम,अपने इच्छा अनुसार व सामर्थ्य के अनुसार सूखे मेवे (काजू बादाम किशमिश मखाना सूखे नारियल इत्यादि) सब मिलाकर 100 ग्राम
मेथी के लड्डू बनाने की विधि –
》मेथी के लड्डू बनाने के लिए सबसे पहले मेथी दाने को पानी से धोकर सूती कपड़े पर फैला लें और इसे धूप में सुखाने के लिए रख दें।
》मेथीदाना सूख जाए तो इसे मिक्सी में थोड़ा दरदरा पीस लें। ध्यान रखें कि मेथीदाना बहुत बारीक न पिसे।
》अब दूध को उबालने के लिए रख दें। दूध उबल जाए तो इसे ठंडा करने रख दें।
》दूध ठंडा होने के बाद इसमें आधा कप घी और मेथीदाने के पाउडर को भिगोकर 5 से 6 घंटे के लिए रख दें। 5 6 घंटे में मेथी दूध को सोख लेगी।
》अब आप मेथी को हल्के हाथों से धीरे-धीरे मसल लें। इस तरह मेथी खुल जाएगी।
》अब बादाम व अन्य मेवे को मोटा दरदरा कूट ले , साथ ही काली मिर्च, जायफल और दालचीनी सौठ इलायची अन्य सामग्री को भी बारीक पीस लें।
》इसके बाद एक कड़ाही में आधा कप घी डालें। घी गर्म हो जाए तो पहले से भिगोई हुई मेथी को भूरा होने तक अच्छे से भुन लें। भुनने के बाद मेथी से खुशबू आने लगेगी।
》अब बचे हुए गर्म घी में काली मिर्च को हल्का सा तल लें। तलने के बाद इसे थोड़ा मोटा पीस लें।
》अब जो घी बचा है उसमें गोंद डालकर धीमी आंच पर तलें। जब गोंद हल्के भूरे रंग की हो जाए तो इसे प्लेट में ठंडा करने के लिए रख दें। इसी तरह से घी में आटा भूरा होने तक भूनें और फिर ठंडा करने के लिए अलग से प्लेट में रख दें।
》अगर घी बचा है तो ठीक, नहीं है तो एक चम्मच फिर से घी डालकर इसमें गुड़ पिघलाएं। जब गुड़ पिघल जाए, तो इसकी चाश्नी बनकर तैयार हो जाएगी। जब चाश्नी बनकर तैयार हो जाए तो इसमें सौंठ पाउडर, जीरा पाउडर, बादाम, दालचीनी, जायफल, छोटी इलायची आदि सामग्री डालकर मिला लें। अब इस मिश्रण में मेथी, आटा और गोंद को भी अच्छे से मिला लें।
अब इसमें खरबूज के बीज, बादाम, किसा हुआ नारियल, डालकर मिक्स कर लें।
》अब इस मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने रख दें। जब मिश्रण ठंडा हो जाए तो हाथ में थोड़ा घी लेकर दोनों हाथों में मल लें।
》अब इस मिश्रण को थोड़ा-थोड़ा हाथों में लेकर लड्डू बनाएं। जब सारे लड्डू बन जाएं तो इन्हें 2 से 3 घंटे के लिए हवा में खुला छोड़ दें।
》इसके बाद इन मेथी के लड्ड्ओं को एक प्लास्टिक के एयर टाइट डिब्बे में स्टोर करके रख दें और रोज सुबह शाम गर्म दूध के साथ इन्हें खाएं। बता दें कि आप इन लड्डुओं को 6 से 8 हफ्ते तक स्टोर करके रख सकते हैं।
*मेथी के लड्डू बनाते समय ध्यान रखें ये बातें *
》मेथी के लड्डू बनाते समय मेथी को बहुत बारीक ना पीसें।
गोंद को तलते समय ध्यान रखें कि ये लाल न हो जाए, वरना टेस्ट बहुत खराब लगेगा।
》गुड़ की चाश्नी बनाने के लिए गुड़ को ज्यादा ना उबालें, नहीं तो लड्डू कउ़क बनेंगे ।
》लड्डू को मीठा करने के लिए इसमें गुड़ या सिर्फ बूरा भी मिला सकते हैं।
》लड्डू को केवल दो से तीन घंटे ही बाहर रहने दें इसके बाद इन्हें एयरटाइट डिब्बे में स्टोर करके रख दें। ज्यादा देर लड्डुओं को बाहर न रहने दें।
》मेथी के लड्डू खाने का तरीका
》मेथी का लड्डू एक बेहतर आयुर्वेदिक नाश्ता है, लेकिन इसका सही फायदा तभी मिलता है, जब इसका सेवन सही तरह से किया जाए। इसे खाने के साथ कई तरह के परहेज भी करने पड़ते हैं, जो सभी को पता होने चाहिए। वरना ये लडड्डू फायदा नहीं करेंगे।
》बड़े बुजुर्गों के अनुसार मेथी के लड्डू सुबह शाम जल्दी खा लेना चाहिए।
》मेथी के लड्डू खाने के बाद गुनगुना मीठा दूध जरूर पी लेना चाहिए।
》मेथी के लड्डू खाने के दो तीन घंटे तक कुछ न खाएं। दो तीन घंटे बाद आप भोजन कर सकते I
》जब तक आप मेथी के लड्डू खा रहे हैं तो कुछ भी खट्टा खाने से बचें। जैसे नींबू, अमचूर, इमली, आदि ना खाएं। अगर खाना ही हो तो इसके खाने के 3 4 घण्टे बाद ही खाये न खायें तो उत्तम I
》मेथी के लड्डू खोने के एक घंटे बाद तक कुछ भी ठंडा ना खाएं।

निरोग हेल्थ केयर
“आरोग्य सेवक और मित्र “
मुकेश बाबू गुप्ता
-:संपर्क करे:-9560355455

खबरें और भी है