Advertisment

अंतरराष्ट्रीय पहलवान स्व. चंद्र प्रकाश मिश्र (गामा पहलवान) के 21 वीं पूर्णतिथि पूरे देश में मनाई गयी

Share This Post

Share on facebook
Share on linkedin
Share on twitter
Share on email

फूलों जैसी ज़िंदगी  वो शेर की तरह  जीकर गया ,

वादा किया था साथ निभाने का  पर बीच में ही साथ छोड़ दिया

खजनी। मल्ल कला (कुश्ती) के क्षेत्र में स्व.चंद्रप्रकाश मिश्र उर्फ गामा पहलवान के अतुलनीय योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। यह माटी चंदन की तरह है जिसे माथे से लगा कर और इसी माटी में पसीना बहाकर स्वर्गीय ब्रह्मदेव मिश्रा स्वर्गीय रामनारायण मिश्रा तथा भारत केसरी चंद्रप्रकाश मिश्रा उर्फ गामा पहलवान ने क्षेत्र और इस गांव का नाम देश दुनियां में रौशन किया|
उक्त विचार क्षेत्रीय विधायक संत प्रसाद बेल्दार ने मुख्य अतिथि के रूप में रूद्रपुर गांव के समाधिनाथ बाबा मंदिर परिसर में आयोजित चंद्रप्रकाश मिश्रा उर्फ गामा मिश्रा पहलवान की 21वीं पुण्यतिथि के अवसर पर व्यक्त किए। विधायक ने कुश्ती को बढावा देनें के लिए हर संभव सहयोग और मदद करने का वचन दिया|भाजपा के जिलामंत्री जगदीश चौरसिया ने कहा कि गामा पहलवान के मल्लकला के क्षेत्र में योगदान को भुलाया नहीं जा सकता अध्यक्षता कर रहे प्रेमशंकर मिश्रा ने सभी उपस्थित आगंतुकों के प्रति आभार जताया। श्रद्धांजलि सभा का संचालन बृजेश राम तिवारी ने किया।
इससे पूर्व सभी ने खजनी चौराहे पर गामा पहलवान की चित्र पर माल्यार्पण किया और समाधिनाथ मंदिर पर प्रतिमा पर फूल चढा कर श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान धरणीधर राम त्रिपाठी राहुल तिवारी रामकृष्ण पाठक जगदीश चौरसिया राम अशीष बेलदार गणेश शंकर मिश्रा डॉक्टर उदय शंकर मिश्र संतोष राम त्रिपाठी अमर अनुज हर्ष आकाश बृजेन्द्र चतुर्वेदी उर्फ बंटी सहित बडी संख्या में लोग मौजूद रहे|फोटो

अंतरराष्ट्रीय पहलवान स्व. चंद्र प्रकाश मिश्र (गामा पहलवान) के 21वी पूर्णतिथि पर दिल्ली के अखाडे में कोच माननीय राजेश पहलवान फौजी ने हवन कराकर श्रद्धांजलि व्यक्त की

अंतरराष्ट्रीय पहलवान स्वर्गीय चंद्र प्रकाश मिश्र (गामा पहलवान) के 21वी पूर्णतिथि पर दिल्ली के अलग अलग अखाडे में श्रद्धांजलि व्यक्त की।

Advertisment

खबरें और भी है ...