Advertisment

केरल सरकार “निपाह वायरस” के खतरे से निपटने में दिख रही नाकाम

Share This Post

Share on facebook
Share on linkedin
Share on twitter
Share on email
केरल में बढ़ता निपाह वायरस का खतरा 
 
केरल में निपाह वायरस और कोरोना का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है | इस स्तिथि में केरल से सटे पड़ोसी राज्यों अलर्ट हो गए है | कन्नड़ जिले के उपायुक्त ने जारी किया नोटिस, लोगों से बहुत ज्यादा इमरजेंसी न होने पर केरल की यात्रा करने से बचने के निर्देश दिए | कॉलेजों, स्कूलों या संस्थानों के संबंधित शिक्षा प्रमुखों को निर्देश दिया है कि अपने छात्रों को शारीरिक कक्षाओं में शामिल न होने दें |

निपाह वायरस से डरे हुए है पड़ोसी राज्य 
केरल में निपाह वायरस का प्रकोप देख कर्नाटक डरा हुआ नजर आ रहा है |राज्यों ने बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए बुखार, परिवर्तित मानसिक स्थिति, गंभीर कमजोरी, सिरदर्द, सांस की तकलीफ, खांसी, उल्टी, मांसपेशियों में दर्द, ऐंठन और दस्त जैसे लक्षणों के साथ केरल से आने वालों की निगरानी करने के निर्देश दिए गए |

जनता को जागरूक बनाना ही आखिरी रास्ता 

निपाह वायरस की चपेट में आने से केरल के कोझिकोड में 12 साल के एक बच्चे की मौत हो गई थी | निपाह वायरस कोई नया वायरस नहीं है लेकिन, कोविड की तरह इसकी भी कोई दवा नहीं है | कोरोना की तो वैक्सीन बन चुकी है, लेकिन निपाह वायरस के लिए वैक्सीन भी नहीं बन सकी है | ऐसे में लोगों में इसे लेकर ज्यादा डर बना हुआ है |

Advertisment

खबरें और भी है ...