You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Motivational Story: When it comes to its own life

Motivational Story : जब खुद की जान पर बन आए तो

Share This Post

बादशाह और उसके कुत्ते की कहानी 
 
न्यूज डेस्क ( नेशनल थॉट्स ) : ये कहानी है एक बादशाह की जिसे अपने कुत्ते से बहुत प्यार था | वो शाही अंदाज में रहता था उस राज्य में  लोग कहते थे की काश हम बादशाह के कुत्ते होते तो हमारी जिंदगी थोड़ी ठीक होती। बादशाह अपनी प्रजा पर कम ध्यान देता था | वो अपना सारा ध्यान अपना सारा खर्चा अपने कुत्ते पर करता था।  इतनी मोहब्बत अपने कुत्ते से थी कुछ लोग मिसाल दिया करते थे जानवरों से प्रेम करना हो तो बादशाह से शिखिये। बादशाह जहा भी जाते थे | जिस भी मीटिंग में जाते थे पोलिटिकल मीटिंग हो या प्रजा  के सामने मीटिंग हो | हर जगह अपने कुत्ते को साथ में रखते थे दरबार  में भी वो बैठा करता था। 
 
नाव में सवार हुआ बादशाह का कुत्ता 
 
एक बार उन्हें किसी दूसरे राज्य के राजा से मिलने के लिए जाना था समुद्री रास्ता था | राजा जब नाव में सवार हुए तो बादशाह के साथ कुछ सैनिक थे कुछ मंत्री थे और उनके अलावा कुछ यात्री भी उस नाव में बैठे हुए थे। अब बादशाह जहा जाते थे वो कुत्ता भी जाता था तो वो कुत्ता भी नाव में बैठा था। ये उस कुत्ते के लिए पहला सफर था जब वो समुद्री रास्ता तैर कर जा रहा था | वो कुत्ता बादशाह के साथ था जैसे ही नावं रवाना हुई तो पानी में जब नाव चलती है |

कुत्ते की उछल कूद की वजह से सभी यात्री परेशान 

तो उसे जो हलचल होती है | उसे कुत्ता बेचैनी महसूस करने लगा | वो असहज महसूस कर इधर से उधर उछाल मार रहा था, उछल कूद कर रहा था | इधर से उधर जा रहा था तो जो बाकी यात्री थे | उनको भी डर लग रहा था। हर कोई कुत्तो के साथ कम्फर्टेबले नहीं होता तो उनको  लग रहा था की कहा बादशाह इसे अपने साथ लेकर आ गए और उस कुत्ते के उछल कूद करने की वजह से नावं में बड़ी चिंता हो रही थी की कही नावं पलट न जाए कहीं कोई यात्री पलट न जाए कहीं कोई दिक्कत न हो जाए।

दार्शनिक ने बादशाह से कही मन की बात 

हर कोई ये चाह रहा था की खास ये बात बादशाह समझले लेकिन बादशाह को सुरु सुरु में बहुत अच्छा लग रहे था की वाह हमारा कुत्ता कितना प्यारा हैं |  खेल कूद रहा है। थोड़ी देर के बाद में ये चीजें उन्हें भी परेशान करने लगी उन्हें लगने लगा की कहीं कोई खतरा न हो जाए। इस कुत्ते के बार बार उछलने कूदने की वजह से कही नावं न पलट जाए लेकिन वो कैसे समझाए उस कुत्ते को वो तो उनके दिल  के बहुत करीब था। वो जो यात्री बैठे हुए थे उनमें से एक दार्शनिक  बैठा हुआ था उस दार्शनिक ने सोचा और  हिमत कर के बादशाह के पास गए और बोले गुस्ताकी माफ़ हुजूर |

कुत्ते को पानी में फेंका 

लेकिन हमें कुछ न कुछ करना होगा वरना ये जो आपका प्यारा कुत्ता है हम सब को मुसीबत में दाल देगा ये नावं पलट जाएगी। बादशाह ने कहा ठीक है आप क्या करना चाहते है आपको जो समझ में आ रहा है वो कर लीजिये मेरी तरफ से आपको इजाज़त है। वो दार्शनिक गया और जो उसके पास में जो साथी बैठे हुए थे उनमें से जो दो साथी बैठे हुए थे उसे बोले आओ मेरे साथ  एक काम करना है | उन तीनो में मिल कर उस कुत्ते को पकड़ा और समुद्र में फेंक दिया और जैसे ही वो कुत्ता समुद्र में गिरा उसकी जान पर बन आई उसे समझ नहीं आया क्या करे वो तड़पता हुआ नावं को पकड़ लिया |

दार्शनिक की दूरदृष्टि 

उसने थोड़ी देर वो नावं को पकड के साथ में  चलता रहा  उसके बाद में दार्शनिक जो था उसने अपने साथियो से कहा अब इसे वापस उठा कर के नाव में ले आते हैं | वापस से उन तीनो ने उस कुत्ते को उठा कर के नावं में बैठा दिया वो जा शाही कुत्ता था | बादशाह का जो बहुत प्यारा था जो उछल कूद रहा था वो चुपचाप से जा कर के एक कोने में बैठा गया |

जब अपनी जान पर बन आए  

बादशाह को समझ नहीं आया यात्रियों को भी समझ नहीं आया ये क्या हो गया अचानक से इसकी उछाल खुद बंद हो गयी तो बादशाह पूछा उस दार्शनिक से  ये क्या किया जो इतना उछल कूद रहा था अचानक से पालतू बकरी बन गया है | तो दार्शनिक ने कहा बादशाह बहुत ही सीधी बात है जिंदगी  में जब तक खुद पे कोई विपत्ति नहीं आती  तब तक हमें दूसरे की परेशानी दूसरे की परिस्थिति समझ नहीं आती जब खुद की जान पर बन आती है |

कहानी से मिली सीख 

तो  दूसरे की परिस्थिति अपने आप समझ जाते हैं। सामने वाले की  जिंदगी में क्या चल रहा है किन वजहों से चल रहा है | आप और हम कुछ नहीं जानते सामने वाले की जिंदगी पे कमेंट करने से पहले 10 या 12 बार सोचिये | ये कहना आसान होता है की लास्ट बॉल पर सिक्स लग सकता लेकिन मैदान में जा करके उस गेंद का सामना करना जो 140km/h की गति से आती है वो एक अलग कहानी होती है | इसलिए आप कोशिश कीजियेगा दुवारो पे कुछ कहने से बचें अपनी स्थिति अपनी जिंदगी अच्छी  करें।

ऐसी ही रोचक और ज्ञानवर्धक कहानियों को पढ़ने के लिए www.nationalthoughts.com पर क्लिक करें | इसके साथ ही देश और दुनिया से जुड़ी अहम जानकारियों को जानने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल NATIONAL THOUGHTS को SUBSCRIBE करें और हमेशा अपडेटेड रहने के लिए हमें FACEBOOK पर FOLLOW करें | 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On