You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Motivational Story: Who is the happiest person in the world? What is happiness!

Motivational Story : दुनिया में सबसे खुश व्यक्ति कौन ? ख़ुशी क्या है !

Share This Post

खुश कैसे रहे 
 
न्यूज डेस्क ( नैशनल थॉट्स ) : हमारी आज की कहानी बेहद ही प्रेरणादायक और सीख देने वाली है | हम सब के मन में यह प्रश्न जरूर उठता है कि ख़ुशी क्या है और खुश कैसे रहे | ये स्टोरी आपको यही सब बताएगी |

 
शादीशुदा जोड़े की परेशानी 
 
एक जोड़ा खुशी-खुशी अपना जीवन बिता रहा था। किसी वजह से उनकी खुशियाँ समय के साथ कम होती चली जा रही थी | तभी उन्होंने सुना कि पास के गाँव में एक महात्मा आए हैं, जो लोगों की तकलीफ दूर करते हैं। तो दोनों उनके पास गए। महात्मा ने कहा कि तुम विश्व-भ्रमण पर जाओ और पूरी तरह से खुश पुरुष व महिला का कोई जोड़ा ढूंढ कर लाओ। अगर तुम्हें कोई ऐसा व्यक्ति मिल जाए तो उसके कपड़े का एक हिस्सा ले आना और उसे हमेशा अपने पास रखना। 
 
 
सदा खुश रहने के लिए महात्मा से पूछा उपाय 
 
इसके बाद तुम हमेशा खुश रहोगे। वे दोनों अपनी यात्रा पर निकल पड़े । एक जगह जाकर उन्हें पता चला कि राज्यपाल और उसकी पत्नी सबसे ज्यादा खुश हैं। वे उनके पास गए और पूछा- “क्या आप सबसे ज़्यादा खुश हैं ?’ उन्होंने जवाब दिया- “हाँ, हम हर हाल में खुश है, बस हमारे कोई संतान नहीं है।

 
विश्व भ्रमण कर सबसे खुश जोड़े का कपड़ा अपने पास रखों 
 
यह सुनकर उन्होंने अपनी यात्रा आगे बढ़ाई। एक जगह पहुँच कर पता चला कि वहाँ सबसे ज़्यादा खुश रहने वाला जोड़ा रहता है। वे दोनो उसके पास गए और पूछा- “क्या आप सबसे ज्यादा प्रसन्न रहते हैं? उस जोड़े ने जवाब दिया- “हा, हम खुश रहते हैं लेकिन एक ही दुःख है, हमारे बहुत सारे बच्चे हैं, जिनके कारण हमारी जिन्दगी अस्त-व्यस्त हो गई है । वे दोनों वहाँ से भी निराश होकर चल दिए।

रेगिस्तान में मिला गड़रिया, बाहर से खुश लेकिन उसके सामने थी ये मजबूरी  

चलते-चलते वे रेगिस्तान पहुंच गए वहाँ एक गडरिया भेड़े चरा रहा था। दूर से उसकी पत्नी और बेटी खाना लेकर आए, वे तीनों मिलकर खाना खाने लगे । यह देखकर उन्होंने गडरिया से भी वही सवाल पूछा । गड़रिये ने माना कि वह सबसे ज्यादा खुश है। उन दोनों ने उसकी शर्ट का टुकड़ा माँगा । गड़रिये ने कहा कि अगर मैं तुम्हें अपनी शर्ट का टुकड़ा दे दूंगा तो मैं क्या पहनूगा। मेरे पास एक ही शर्ट है। हताश होकर वे दोनों महात्मा के पास लौट आए और उन्हें अपने अनुभव बताए।

 
कहानी से मिली सीख : महात्मा ने कहा कि तुम्हें समझ आ गया होगा कि दुनिया में कोई भी पूरी तरह से खुश नहीं है। अगर खुशी दूंढनी है तो बाहर नहीं अपने अंदर ही ढूंढो। इसलिए दूसरों की खुशी से जलो मत, आपका भी समय आएगा |
ऐसी ही प्रेरणादायक कहानियों को पढ़ने के लिए www.nationalthoughts.com पर क्लिक करें | इसके साथ ही देश और दुनिया से जुड़ी अहम जानकारियों को जानने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल NATIONAL THOUGHTS को SUBSCRIBE करें और हमेशा अपडेटेड रहने के लिए हमें FACEBOOK पर FOLLOW करें | 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On