Advertisment

National Computer Security Day: Know history and 5 ways to avoid cyber attacks, hackers came.

National Computer Security Day : जानिए इतिहास और साइबर अटैक से बचने के 5 उपाय, हैकर्स की आई शामत……..

Share This Post

Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on email
नेशनल कंप्यूटर सिक्योरिटी डे 
 
न्यूज डेस्क ( नेशनल थॉट्स ) : आज भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में नेशनल कंप्यूटर सिक्योरिटी डे मनाया जा रहा है। संकट के इस दौर में जहां कोरोना संक्रमण के कारण लोगों पर वर्क फ्रॉम होम की वजह से कंप्यूटर से होने वाला वर्क लोड बढ़ गया है। आज बैंक से लेकर रेल की टिकट रिजर्व करने तक सभी चीज़े तकनीक व कंप्युटर से हो रहीं हैं, लेकिन बढ़ते साइबर अटैक के चलते ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत है।
भारत में साल-दर-साल बढ़ने लगे है साइबर अटैक के मामले 
CERT-In के आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून तक भारत में 6 लाख से ज्यादा साइबर अटैक हुए हैं। वहीं 2020 में यह 11.58 लाख थे। 2019 में 3.94 लाख जबकि 2018 में यह 2.08 लाख अटैक हुए हैं। साइबर अटैक के खतरों को साल 1988 में ही पहचान लिया गया था, यही वजह है कि इसी साल से 30 नवंबर को कंप्यूटर सिक्योरिटी डे के रूप में मनाया जाने लगा।
साइबर अटैक से बचने के 5 उपाय :- 

1.डेटा का बैकअप रखें

साइबर हमले का मकसद सिर्फ सिस्टम में रखे डेटा को हैक करना होता है। ऐसे में हम अपने डेटा की बैकअप फाइल को पेन ड्राइव, सीडी, या हार्ड ड्राइव में सेव रखना होगा। किसी तरह का वायरस सिस्टम में आने पर बैकअप डेटा सेव रहेगा।

2. अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस इनस्टॉल करें


मार्केट में कई एंटीवायरस प्रोग्राम मिलते हैं, ये सेफ्टी के लेवल को बढ़ाते है और आपके कंप्यूटर को सेफ रखते हैं। एंटीवायरस फ्री और पेड दोनों तरह के मिलते हैं। हम आपको यही सलाह देंगे की कोई पेड एंटीवायरस आपने कंप्यूटर में इस्तेमाल करें।

3. एक मजबूत पासवर्ड बनाएं

पासवर्ड में कम से कम 10 से 15 कैरेक्टर का इस्तेमाल करें। जिसमें अल्फाबेट के साथ नंबर्स का भी इस्तेमाल करें। स्पेशल कैरेक्टर जैसे ! @ # $ % ^ & * ) का भी यूज करें। समय-समय पर अपना पासवर्ड बदलते भी रहें। 
 
4.ब्लूटूथ को एक्टिव न छोड़ें
 
मोबाइल व लैपटॉप के डाटा को ब्लूटूथ के जरिए भेजने के बाद तुरंत बंद कर देना चाहिए। अक्सर हैकर्स खास तरह के ऐप का इस्तेमाल कर जरूरी डाक्यूमेंट गायब कर लेते हैं।

5. Ad ब्लॉकर इनस्टॉल करें

ऑनलाइन पॉप-अप विज्ञापन अक्सर ऐसी वेबसाइटों तक ले जा सकते हैं जो हमारा डाटा चुराती हैं और वायरस को कंप्यूटर पर इंस्टॉल करती हैं। इसके लिए हमें एक विश्वसनीय एड ब्लॉकर को डाउनलोड करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment

खबरें और भी है ...