Advertisment

TOP BUSINESS NEWS

TOP BUSINESS NEWS – व्यापार से जुड़ी बड़ी खबरें

Share This Post

Share on facebook
Share on linkedin
Share on twitter
Share on email
  • दागी होने के डर से सस्ते में बेच रहे हैं किसान टमाटर
बारिश का असर शहरों में ही नहीं बल्कि खेत-खलिहानों में भी देखने को मिल रहा है। बारिश के चलते किसानों को भी आर्थिक नुकसान का सामना करते हुए मात्र 8-10 रूपए प्रति किलो में अपने टमाटरों को बेचना पड़ रहा है। जिसकी वजह बारिश के मौसम में टमाटरों का दागी होना बताया जा रहा है। बारिश के चलते सिर्फ टमाटरों पर दाग ही नहीं लगता बल्कि वो गलते भी जल्दी हैं। आजादपुर मंडी में इस समय नासिक, महाराष्ट्र, सोल्हापुर, औरंगाबाद व हिमाचल प्रदेश से टमाटर की आवक होती है। उसमें भी सबसे ज्यादा टमाटर सितंबर महीने में नासिक से आते हैं और इस साल टमाटर की पैदावार भी अच्छी खासी हुई है लेकिन उनके दाम किसानों को अच्छे नहीं मिल पा रहे हैं। 
 
  • अफगान में तालिबान का कब्जा होने के बाद ड्राई फ्रूट्स महंगा हुआ, दिवाली तक दिखेगा असर
अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होने और कोरोना महामारी समेत अन्य अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रमों के चलते अमेरिका से बादाम और पिस्ता का आयात प्रभावित होने से आगामी त्योहारी सीजन खासकर दिवाली तक सूखे मेवों में तेजी का रुख बन सकता है | सूखे मेवों के थोक व्यापारियों को ऑनलाइन प्लैटफॉर्म उपलब्ध कराने वाली कंपनी ट्रेड ब्रिज के परिचालन प्रमुख स्वप्निल खैरनार ने बताया कि अफगानिस्तान में हुए घटनाक्रम और अमेरिका आमद घटने से सूखे मेवों में तेजी का रुख बनना शुरू हो गया है | उन्होंने बताया कि देश में अधिकांश बादाम अमेरिका से आयात होता है, जबकि अंजीर अफगानिस्तान से आता है | किशमिश की आधी घरेलू मांग अफगानिस्तान से पूरी होती है |

  • शेयर बाजार : नए शिखर पर खुले बाजार, पहली बार सेंसेक्स 58400 और निफ्टी 17400 के पार; ऑटो, IT शेयर्स का सपोर्ट
हफ्ते के पहले दिन बाजार नई ऊंचाई पर खुले। सेंसेक्स 58,411 और निफ्टी 17,399 पर खुला। फिलहाल सेंसेक्स 300 अंक चढ़कर 58,440 पर और निफ्टी 75 अंक चढ़कर 17,400 पर कारोबार कर रहा है। कारोबार के दौरान पहली बार सेंसेक्स ने 58,515 का और निफ्टी ने 17,411 का रिकॉर्ड स्तर छुआ। सेंसेक्स के 30 में से 18 शेयर्स बढ़त के साथ जबकि 12 शेयर्स लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। जिसमें रिलायंस के शेयर 3% और बजाज ऑटो के शेयर 1% से ज्यादा की तेजी के साथ कारोबार कर रहे हैं। टाटा स्टील के शेयर में करीब 1% की गिरावट है।
 
  • सितंबर में सस्ती हो सकती है कारें : मारुति की S-प्रेसो पर 25 हजार तो ऑल्टो पर 20 हजार रुपए का डिस्काउंट ऑफर
सितंबर 2021 में फेस्टिवल सीजन शुरू होते ही देश में कार बनाने वाली कंपनियों ने अपनी गाड़ियों पर डिस्काउंट देना शुरू कर दिया है। मारुति सुजुकी ने अपनी कारों पर आकर्षक डील का ऐलान किया है। कंपनी एरिना रेंज की कारों पर मैक्सिमम 25 हजार रुपए तक का डिस्काउंट दे रही है।  ऑल्टो के पेट्रोल AC वैरिएंट पर 20,000 रुपए तो नॉन AC वैरिएंट पर 15,000 रुपए का डिस्काउंट ऑफर मिल रहा है। हालांकि ऑल्टो के CNG वर्जन पर किसी तरह का कैश डिस्काउंट नहीं है। छोटी हैचबैक के सभी वैरिएंट पर 15,000 का एक्सचेंज बोनस और कॉर्पोरेट डिस्काउंट 3,000 रुपए का मिल रहा है।
 
  • SEBI ने निवेशकों से सितंबर अंत तक पैन को Aadhaar से जोड़ने को कहा 
पूंजी बाजार नियामक सेबी ने शुक्रवार को निवेशकों से कहा कि वे प्रतिभूति बाजार में निरंतर और सुचारू कारोबार करते रहने के लिए 30 सितंबर तक अपने पैन को आधार से जोड़ लें। इसका अनुपालन नहीं होने पर संबंधित व्यक्ति का स्थायी खाता संख्या (पैन) परिचालन में नहीं होगा। इसका मतलब है कि संबंधित व्यक्ति का केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) ब्योरा अधूरा होगा। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने फरवरी 2020 को एक अधिसूचना के माध्यम से कहा था कि एक जुलाई, 2017 तक आवंटित व्यक्ति का पैन अगर 30 सितंबर, 2021 या सीबीडीटी द्वारा तय किसी भी अन्य तारीख तक अगर आधार से नहीं जुड़ता है, तो वह (स्थायी खाता संख्या) निष्क्रिय हो जाएगा। 
 
  • बीते सप्ताह 50 फीसदी से ज्यादा चढ़ा यह डिफेंस स्टॉक, एक्सपर्ट्स दे रहे पोर्टफोलियो में शामिल करने की सलाह
बीते सप्ताह सरकार ने ड्रोन पॉलिसी 2021 को लागू किया था | इस पॉलिसी के तहत ड्रोन के इस्तेमाल और सर्टिफिकेशन को आसान बनाया गया है | इस पॉलिसी के लागू होने के बाद शेयर बाजार में एक स्टॉक चर्चा का विषय बना हुआ है | बीते सप्ताह इस स्टॉक में करीब 55 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया | इस स्टॉक ने बाजार के जानकारों का ध्यान आकर्षित किया है और वे निवेशकों को पोर्टफोलियो में शामिल करने की सलाह दे रहे हैं | इस कंपनी का नाम Zen Technologies Ltd. ड्रोन मैन्युफैक्चरिंग को लेकर यह देश की एकमात्र लिस्टेड कंपनी है | यही वजह है कि ड्रोन पॉलिसी की घोषणा के बाद इस शेयर में करीब 60 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है |
 
  • Cryptocurrency निवेशकों के लिए काम की खबर, इस साल के अंत तक दोगुना हो सकता है Bitcoin का रेट
एक बार फिर से Bitcoin का प्राइस 50 हजार डॉलर के पार पहुंच गया है. क्रिप्टोकरेंसी के प्रति निवेशकों की दिवानगी को देखते हुए सरकार भी इसे रेग्युलेट करने के बारे में सोच रही है | इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार बहुत जल्द cryptocurrency bill को लाएगी | जाहिर है डिजिटल करेंसी के निवेशकों के लिए यह अच्छी खबर है | BuyUcoin के CEO शिवम ठकराल ने कहा कि बिटकॉइन में अभी बुल रन की शुरुआत हुई है. इस साल के अंत तक यह 1 लाख डॉलर के स्तर तक पहुंच सकता है. बिटकॉइन समेत अन्य डिजिटल करेंसी में तेजी के कारण एक बार फिर से क्रिप्टो करेंसी मार्केट कैप 2 ट्रिलियन डॉलर के पार पहुंच गया है | ठकराल ने कहा कि दुनिया के बड़े-बड़े ब्रांड इसके साथ जुड़ रहे हैं |
 
  • ऑटो PLI स्कीम का फोकस बदला:सिर्फ EV और हाइड्रोजन फ्यूल गाड़ियों के लिए इंसेंटिव दे सकती है सरकार
ऑटो सेक्टर में मैन्युफैक्चरिंग को सपोर्ट देने के लिए लगभग 60,000 करोड़ रुपए की जो योजना बनाई गई थी, उसमें सरकार ने बदलाव किया है। मामले के जानकार सूत्रों ने बताया कि सरकार का फोकस अब ग्रीन एनर्जी से चलने वाली गाड़ियों को बढ़ावा देने पर होगा। वह कंपनियों को सिर्फ इलेक्ट्रिक व्हीकल और हाइड्रोजन फ्यूल से चलने वाली गाड़ियां और उसके पार्ट्स बनाने के लिए इंसेंटिव देगी। सरकार पहले घरेलू खपत और निर्यात के लिए ऑटोमोबाइल और ऑटो पार्ट बनाने वाली कंपनियों को इंसेंटिव देना चाहती थी। उसने उस इंसेंटिव में से कुछ हिस्सा इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) के लिए तय किया हुआ था। सरकार का फोकस तब बदला है, जब टेस्ला इंडिया में एंट्री करने की तैयारी में है। वह EV पर इंपोर्ट ड्यूटी में कमी कराने के लिए लॉबींग कर रही है।
 
  • Indian startups के लिए स्वर्ग बनने की तैयारी कर रहा स्विट्जरलैंड, ‘ब्लैकमनी’ को लेकर अपनी पहचान से चाहता है आजादी
स्विटजरलैंड का नाम सुनते ही दो बातें दिमाग में आती हैं. पहली बात वहां की नैचुरल ब्युटी की होती है | हर किसी की चाहत होती है कि जिंदगी में कम से कम एक बार वहां घूमने जाएं | इसके अलावा ब्लैकमनी के लिए सुरक्षित ठिकाने के रूप में भी स्विट्जरलैंड का नाम आता है | वहां की सरकार की नजर इंडियन स्टार्टअप पर है | वह इन उद्यमियों को लुभाने के लिए तरह-तरह का प्रयास कर रही है | एक रिपोर्ट के मुताबिक, बड़ी संख्या में भारतीय उद्यमी स्विट्जरलैंड के स्टार्टअप पारिस्थतिकी तंत्र का लाभ उठाने और वहां अपना नया उद्यम शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं | वहीं यह पर्वतीय देश खुद को स्टार्टअप के लिए पसंदीदा गंतव्य के रूप में पेश कर रहा है. इसके लिए स्विट्जरलैंड ने वैश्विक स्तर पर कई प्रतिस्पर्धी कदम उठाए हैं |

Advertisment

खबरें और भी है ...