Advertisment

top business news

TOP BUSINESS NEWS – व्यापार से जुड़ी बड़ी खबरें

Share This Post

Share on facebook
Share on linkedin
Share on twitter
Share on email
  • शेयर बाजार अपडेट:बाजार में फ्लैट कारोबार, सेंसेक्स 58,300 पर और निफ्टी 17,400 के नीचे; मेटल शेयरों में तेजी
मंगलवार को भी बाजार मजबूती के साथ खुले। सेंसेक्स 58,418 और निफ्टी 17,401 पर खुला। लेकिन ये मजबूती ज्यादा देर नहीं टिकी। फिलहाल बाजार लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। सेंसेक्स 100 पॉइंट गिरकर 58,190 पर और निफ्टी 30 पॉइंट फिसलकर 17,350 पर कारोबार कर रहा है। सेंसेक्स के 30 में से 14 शेयर्स बढ़त के साथ और 16 शेयर्स लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। जिसमें एशियन पेंट्स के शेयर में 1% से ज्यादा की तेजी है। वहीं एक्सिस बैंक के शेयर में 1% की गिरावट है |
 
  • 5 कंपनियों का BSE के कुल मार्केट कैप में 20.8% का योगदान, रिलायंस 15.37 लाख करोड़ मार्केट कैप के साथ नंबर वन कंपनी
आज हम आपको उन कंपनियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका शेयर बाजार में एक तरफा जलवा है और वो कंपनियां जो बाजार को लीड कर रही हैं। ग्राफिक के जरिए समझिए उन 5 कंपनियों के बारे में जिनका कुल मार्केट कैप 52.14 लाख करोड़ रुपए है। साथ ही ये भी बताएंगे कि इन कंपनियों का BSE के मार्केट कैप में कुल कितना योगदान है। बाजार की टॉप 5 कंपनियों के मार्केट कैप, शेयर के वेटेज और लिस्टिंग से लेकर IPO प्राइस तक सब कुछ बताएंगे। शेयर बाजार में सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली कंपनी है रिलायंस। सोमवार को रिलायंस का कुल मार्केट कैप 15.37 लाख करोड़ रुपए रहा। वहीं दूसरे नंबर पर है TCS। TCS का कुल मार्केट कैप 14.24 लाख करोड़ रुपए है।
 
  • किसानों का सिर्फ 9,000 करोड़ का बकाया:अगले शुगर सीजन में घटेगा चीनी का उत्पादन, बनाया जाएगा ज्यादा एथेनॉल
शुगर सीजन 2021-22 में चीनी का उत्पादन मामूली गिरावट के साथ 3.05 करोड़ टन रह सकता है। दरअसल अगले शुगर सीजन में एथनॉल उत्पादन के लिए ज्यादा गन्ने का इस्तेमाल होने की संभावना है। यह बात खाद्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव सुबोध कुमार सिंह ने कही है। उनके मुताबिक, मौजूदा शुगर सीजन यानी 2020-21 में चीनी का उत्पादन 3.1 करोड़ टन तक जा सकता है। इस शुगर सीजन में गन्ना किसानों को 91,000 करोड़ रुपए का भुगतान किया जाना था। इसमें से लगभग 83,000 करोड़ रुपए का बकाया अदा किया जा चुका है, जबकि 9,000 करोड़ रुपए का बकाया रह गया है। इसमें से कुछ रकम का भुगतान अगले एक महीने में हो सकता है। शुगर सीजन अक्टूबर से सितंबर तक चलता है।

  • सेबी ने इन 85 कंपनियों को कैपिटल मार्केट में ट्रेडिंग पर लगाई रोक
मार्केट रेग्युलेटर सेबी ने सनराइज एशियन लिमिटेड समेत कुल 85 व्यक्तियों और संस्थाओं को कंपनी के शेयर मूल्य में हेराफेरी करने के चलते पूंजी बाजार में कारोबार करने पर एक साल तक के लिए रोक लगा दी | नियामक ने अपने आदेश में सनराइज एशियन और उसके तत्कालीन पांच निदेशकों को पूंजी बाजार से एक साल के लिए और 79 संबंधित इकाइयों को छह महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया | भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) ने प्रधान आयकर निदेशक (जांच), कोलकाता से मिले एक संदर्भ के आधार पर 16 अक्टूबर 2012 से 30 सितंबर 2015 की अवधि के दौरान सनराइज एशियन के शेयरों की जांच की थी |

  • Amul Macho ने लक्स कोजी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, जानें पूरा मामला
माचो ब्रांड से अंडरवियर और गंजी बेचने वाली जेजी होजरी ने विज्ञापन नियामक भारतीय विज्ञापन मानक परिषद के समक्ष उसके विज्ञापन की कथित तौर पर नकल करने को लेकर लक्स इंडस्ट्रीज के खिलाफ शिकायत की है | जे जी होजरी ने आरोप लगाया कि अमूल माचो का ‘टोइंग’ विज्ञापन की लक्स इंडस्ट्रीज ने अपने लक्स कोजी के लिये टेलीविजन पर दिये विज्ञापन में नकल की है | कोलकाता की लक्स इंडस्ट्रीज ने अपने लक्स कोजी कच्छा, बनियान के लिये अभिनेता वरुण धवन को लेकर नया विज्ञापन शुरू किया है | लक्स कंपनी का कहना है कि हमारे विज्ञापन की सफलता से प्रतिस्पर्धी कंपनी को खतरा महसूस हो रहा है और वह निराधार आरोप लगा रही है |
 
  • वीजा इंडस्ट्री को रेगुलेट करने की मांग, अभिनव इमीग्रेशन का 125-150 करोड़ रुपए के रेवेन्यू का लक्ष्य
अभिनव इमीग्रेशन अगले पांच सालों में 125 से 150 करोड़ रुपए के रेवेन्यू का लक्ष्य रखी है। इसके साथ ही कुल कर्मचारियों की संख्या भी इसी दौरान बढ़ाकर 1,000 करने की है। कंपनी के चेयरमैन अजय शर्मा ने यह जानकारी दी। अजय शर्मा ने कहा कि अभिनव इमीग्रेशन पिछले 27 सालों से वीजा और इमीग्रेशन के बिजनेस में है। कंपनी अब नए कॉर्पोरेट बिजनेस पर फोकस करने की योजना बना रही है। साथ ही विदेशों में पढ़ाई वाले डिवीजन पर ज्यादा फोकस करेगी। उन्होंने कहा कि समय आने पर कंपनी आईपीओ के लिए भी योजना बना रही है। पर IPO तब आएगा, जब कंपनी अपने रेवेन्यू के लक्ष्य को हासिल कर लेगी।
 
  • गोल्ड-सिल्वर – पिछले हफ्ते की गिरावट के बाद आज महंगे हुए सोना-चांदी, फिर साढ़े 47 हजार के पार हुआ सोना
पिछले हफ्ते की गिरावट के बाद आज यानी सोमवार को सोने-चांदी की चमक बढ़ी है। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (IBJA) की वेबसाइट के अनुसार आज सर्राफा बाजार में सोना 327 रुपए महंगा होकर 47,573 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। हालांकि वायदा बाजार में आज सोना कमजोर हुआ है। 1 बजे MCX पर सोना 79 रुपए की गिरावट के साथ 47,445 रुपए पर ट्रेड कर रहा है।
 
  • सूरत के व्यापारियों के अरबों फंसे, कपड़ा निर्यातकों के 4,000 करोड़ रुपए फंसे, अफगानिस्तान के सेंट्रल बैंक ने रोका डॉलर का लेनदेन
सूरत के कपड़ा व्यापारी आजकल बहुत परेशान हैं। अफगानिस्तान में उनकी लगभग 4,000 करोड़ रुपए का पेमेंट फंस गया है। यह संकट वहां की सत्ता तालिबान के हाथों में आने के बाद पैदा हुआ है। अफगानिस्तान के सेंट्रल बैंक ने कमर्शियल बैंकों को निर्देश दिया है कि वे कॉरपोरेट बैंक खाताधारकों को किसी भी मकसद से रकम निकालने या देश-विदेश में लेन-देन के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजैक्शन करने की इजाजत न दें। फेडरेशन ऑफ सूरत टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी चंपालाल बोथरा ने कहा, ‘हम पहले कपड़े दुबई के रास्ते अफगानिस्तान भेजते थे। हमने देखा कि बांग्लादेश से निर्यात सस्ता पड़ रहा है तो हम बांग्लादेश के जरिए वहां माल भेजने लगे। निर्यात फिलहाल रुक गया है। पेमेंट कब मिलेगा, नहीं पता। 4,000 करोड़ रुपए अटके हुए हैं।
 
  • क्रिप्टो करेंसी की कीमतों में तेजी:बिटकॉइन की कीमत 4% बढ़ी, पोलकाडाट और डागकॉइन की कीमत 6% बढ़ी
क्रिप्टो करेंसी की कीमतों में पिछले 24 घंटे में अच्छी तेजी दिखी है। लोकप्रिय करेंसी बिटकॉइन का भाव जहां 4% बढ़ा, वहीं पोलकाडाट और XRP की कीमतें 6% तक बढ़ी हैं। क्रिप्टो की करीबन सभी करेंसी बढ़त के साथ कारोबार कर रही हैं। टॉप 10 क्रिप्टो करेंसी में से 9 करेंसी की कीमतों में बढ़त दिखी है। सबसे ज्यादा तेजी XRP, पोलकाडाट और बिटकॉइन की कीमतों में दिखी है। बिटकॉइन का भाव 51,597 डॉलर पर पहुंच गया है। जबकि एथरियम की कीमत 1.44% की तेजी के साथ 3,904 डॉलर पर पहुंच गई है। बिनांस कॉइन की कीमत में 1.11% की तेजी है। यह करेंसी 499 डॉलर पर कारोबार कर रही है। तेथर हालांकि मामूली बढ़त के साथ 1 डॉलर जबकि कार्डानो भी मामूली बढ़त के साथ 2.88 डॉलर पर कारोबार कर रही है। डागकॉइन की कीमत में 4.15% की तेजी आई है। यह 0.31 डॉलर पर कारोबार कर रही है।

  • ट्रैक्टर की बिक्री में आएगी तेजी, सितंबर-अक्टूबर से चमक सकता है कंपनियों का धंधा
अगस्त महीने में ट्रैक्टर की बिक्री में बड़ी गिरावट देखी गई है | पिछले अगस्त के बाद इस अगस्त में देखें तो ट्रैक्टर की बिक्री में 17 परसेंट तक की कमी देखी गई है | पिछले 18 महीने में ऐसा पहली बार हुआ है. हालांकि ट्रैक्टर कंपनियों को उम्मीद है कि मानसून में कमी के बावजूद सितंबर-अक्टूबर से बिक्री में तेजी आ सकती है | ट्रैक्टर की बिक्री बढ़ाने के पीछे ताल-तलैया और जलाशयों के जलस्तर में वृद्धि, कृषि क्षेत्र के लिए सरकार के कई ऐलान और न्यूनतम समर्थन मूल्य को बढ़ाया जाना खास वजह मानी जा रही है | देश में पांच प्रमुख ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनियों महिंद्रा एंड महिंद्रा, ट्रैक्टर्स एंड फार्म इक्विपमेंट्स, जॉन डीयर, सोनालिका और एस्कॉर्ट्स की बिक्री देखें तो अगस्त महीने में 17 परसेंट तक गिरी है |

Advertisment

खबरें और भी है ...