You Must Grow
India Must Grow

Follow Us On

National Thoughts

A Web Portal Of Positive Journalism

National Thoughts – We Must Grow India Must Grow 

Twitter Board Meeting :- Indian origin, Gadde started crying in the board meeting, Trump's account was also suspended

Twitter Board Meeting :- भारतीय मूल, गाड्डे बोर्ड मीटिंग में रोने लगीं , ट्रम्प के अकाउंट को भी किया था सस्पेन्ड

Share This Post

ट्विटर और एलन मस्क की डील होने के बाद एक और नाम पर चर्चा शुरू हो गई है। इनका नाम विजया गाड्डे हैं, जो ट्विटर की पॉलिसी हेड हैं। लेटेस्ट रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्विटर की बोर्ड मीटिंग में विजया भावुक होकर रोने लगीं। इसके पीछे की वजह मस्क का विजया गाड्डे को सेंसरशिप से जुड़े उनके फैसले के लिए टारगेट करना बताया जा रहा है।

दरअसल, गाड्डे ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन के लैपटॉप पर की गई एक एक्सक्लूसिव स्टोरी की वजह से न्यूयॉर्क पोस्ट के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया था। उनके इस कदम की मस्क ने आलोचना की है और इसे एक बेहद गलत कदम बताया है।

ट्विटर और एलन मस्क की डील होने के बाद एक और नाम पर चर्चा शुरू हो गई है। इनका नाम विजया गाड्डे हैं, जो ट्विटर की पॉलिसी हेड हैं। लेटेस्ट रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्विटर की बोर्ड मीटिंग में विजया भावुक होकर रोने लगीं। इसके पीछे की वजह मस्क का विजया गाड्डे को सेंसरशिप से जुड़े उनके फैसले के लिए टारगेट करना बताया जा रहा है।

दरअसल, गाड्डे ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन के लैपटॉप पर की गई एक एक्सक्लूसिव स्टोरी की वजह से न्यूयॉर्क पोस्ट के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया था। उनके इस कदम की मस्क ने आलोचना की है और इसे एक बेहद गलत कदम बताया है।

48 साल की विजया गाड्डे ट्विटर के सेफ्टी, लीगल इश्यू और सेंसिटिव मामलों को हैंडल करती हैं। उन्होंने साल 2011 में ट्विटर जॉइन किया था और तब से वह कंपनी के कानून और पॉलिसी से जुड़े मामलों को संभाल रही हैं। विजया को ट्विटर की एक्जीक्यूटिव टीम में सबसे ताकतवर महिला माना जाता है। कंपनी की सेंसरशिप से जुड़े फैसलों के लिए विजया गाड्डे को ही जिम्मेदार माना जाता है।

भारत में जन्मी विजया गाड्डे की ताकत को आप ऐसे समझ सकते हैं कि पिछले साल अमेरिका में हुई हिंसा के बाद पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड करने का फैसला भी उनका ही बताया जाता है। साल 2020 में उन्होंने उस समय के ट्विटर CEO जैक डोर्सी को अमेरिकी चुनाव में पॉलिटिकल ऐड्स न बेचने के लिए भी मना लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

खबरें और भी है ...

Advertisment

होम
खोजें
विडीओ

Follow Us On